Skip to content
मुख्यपृष्ठ » रेलवे Indian Railway: ट्रेन यात्रियों के लिए खुशखबरी.. बदल गया है तरीका.. क्या है असर.. किसे फायदा?

रेलवे Indian Railway: ट्रेन यात्रियों के लिए खुशखबरी.. बदल गया है तरीका.. क्या है असर.. किसे फायदा?

रेलवे: भारतीय रेलवे ने ट्रेन यात्रियों के लिए खुशखबरी दी है. उन टिकट बुकिंग के लिए घंटों लाइन में खड़े होने की जरूरत नहीं है। समय की भी बचत होती है। भारतीय रेलवे ने ट्रेन टिकट बुकिंग सिस्टम में बदलाव किया है। उन्होंने अनारक्षित टिकट प्रणाली को बदल दिया। और इसका आप पर क्या प्रभाव पड़ेगा? इस फैसले से किसे फायदा होगा? आइए यहां जानें।

रेलवे Indian Railway

मुख्य विशेषताएं:

  • रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर है
  • भारतीय रेलवे ने यूटीएस में बदलाव किया है
  • टिकट बुकिंग दूरी सीमा में वृद्धि
  • यह यूपीएस ऐप सामान्य टिकट भी खरीदने का एक विकल्प है

रेलवे: भारतीय रेलवे ने ट्रेन टिकट बुकिंग सिस्टम में बदलाव किया है. रेल यात्रियों के लिए यह एक अच्छी खबर है। ये बदलाव अनारक्षित/सामान्य टिकट प्रणाली (यूटीएस) में किए गए हैं। यात्री अब ट्रेन स्टेशन पहुंचने से पहले 20 किमी तक अनारक्षित टिकट बुक करा सकते हैं। इसके लिए यूटीएस नाम का एक मोबाइल ऐप भी उपलब्ध है। पहले यह दूरी महज 5 किमी थी। अब भारतीय रेलवे ने दूरी की सीमा बढ़ा दी है। इस बात का खुलासा रेल मंत्रालय ने किया है। इस तरीके से कई यात्रियों को फायदा होगा।

आमतौर पर आपको जनरल कोच में यात्रा करने के लिए कतार में खड़े होकर जनरल टिकट खरीदना पड़ता है। इसके लिए आपको दोबारा स्टेशन जाना होगा। अब यह चिंता समाप्त हो जाएगी। आप घर के पास होने पर भी ट्रेन के आगमन से 20 मिनट पहले यूटीएस मोबाइल ऐप के माध्यम से सामान्य या अनारक्षित ट्रेन टिकट बुक कर सकते हैं। घंटों लाइन में लगने की जरूरत नहीं है। समय की भी बचत होती है।

भारतीय रेलवे ने उपनगरीय क्षेत्र में भी इस दूरी की सीमा में ढील दी है। पहले यह 2 किलोमीटर थी, लेकिन अब इसे बढ़ाकर 5 किलोमीटर कर दिया गया है। इस यूटीएस मोबाइल ऐप से प्लेटफॉर्म टिकट, मासिक पास और यहां तक ​​कि सीजनल टिकट भी बुक करने की सुविधा है। यह न केवल उपयोगकर्ताओं के समय की बचत करता है बल्कि उन्हें लंबे समय तक कतार में खड़े होने से भी रोकता है।

यूटीएस मोबाइल ऐप को एंड्रॉइड, आईओएस और विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम प्लेस्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। टिकट का भुगतान ऑनलाइन बैंकिंग या आर-वॉलेट, पेटीएम, मोबिक्विक जैसे वॉलेट से भी किया जा सकता है। उनमें से ज्यादातर को जनरल टिकट के लिए लंबी कतारों में इंतजार करना पड़ता है। संभावना है कि आपके पास पकड़ने के लिए पहले से ही एक ट्रेन है। इसलिए.. इससे समय की बचत हो सकती है।

ऐसे बुक करनी चाहिए टिकट..

  • सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर से यूटीएस ऑन एप डाउनलोड करें।
  • फिर नाम, मोबाइल नंबर, आईडी कार्ड नंबर दर्ज करें।
  • रजिस्ट्रेशन पूरा करने के बाद मोबाइल पर प्राप्त ओटीपी से साइन अप करें।
  • इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आईडी और पासवर्ड मिल जाएगा।
  • UTS में लॉग इन करने के बाद.. टिकट बुक किया जा सकता है।
  • बुक टिकट मेन्यू के तहत.. सामान्य बुकिंग विकल्प का चयन करें। बोर्डिंग या डिसबार्किंग स्टेशन का नाम या कोड दर्ज करना होगा।
  • एक्सप्रेस, पोस्टल, पैसेंजर जैसे टिकट के प्रकार का चयन करें।
  • भुगतान ऑनलाइन किया जाना चाहिए।

सबसे पहेले ओर सबसे तेज सटीक खभर। अधिक जानकारी के लिए हमारे साथ जुड़े रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *