Skip to content
मुख्यपृष्ठ » जानकारी » स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र के नाम प्रधानमंत्री की तरफ से संदेश लिखिए।

स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र के नाम प्रधानमंत्री की तरफ से संदेश लिखिए।

आज के इस लेख मे हम शेयर करने वाले है स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र के नाम प्रधानमंत्री की तरफ से संदेश लिखिए।

Wikipedia

स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र के नाम प्रधानमंत्री की तरफ से संदेश लिखिए।

स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री का संदेश

मेरे साथी नागरिकों,

आज, जब हम अपने देश की आजादी की 77वीं वर्षगांठ मनाने के लिए एकत्र हुए हैं, मैं आपके सामने अत्यंत गर्व और कृतज्ञता से भरे हृदय के साथ खड़ा हूं। स्वतंत्रता दिवस केवल उल्लास और आनंद का दिन नहीं है; यह एक महत्वपूर्ण अवसर है जो हमें उन अनगिनत व्यक्तियों के बलिदान की याद दिलाता है जिन्होंने हमारी स्वतंत्रता और हमारे प्रिय मूल्यों के लिए लड़ाई लड़ी।

77 साल पहले, हमारे पूर्वजों ने एक स्वतंत्र और संप्रभु राष्ट्र की कल्पना की थी, जहां हर नागरिक सद्भाव से रहेगा, अधिकारों में समान होगा और अपने सपनों को आगे बढ़ाने के अवसर होंगे। हम उन बहादुर आत्माओं के प्रति कृतज्ञता के अनंत ऋणी हैं जो बेहतर भविष्य की तलाश में एकजुट होकर कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहे।

जैसे ही हम अपनी यात्रा पर पीछे मुड़कर देखते हैं, हम गर्व से कह सकते हैं कि भारत ने विभिन्न क्षेत्रों में जबरदस्त प्रगति की है। हमारा लोकतंत्र मजबूत है, हमारी अर्थव्यवस्था लगातार बढ़ रही है, और हमारी संस्कृति और विरासत दुनिया को प्रेरित करती रहती है। हमने विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार में उल्लेखनीय प्रगति हासिल की है, जिससे हम वैश्विक सुर्खियों में आ गए हैं।

फिर भी, हमें यह भी मानना होगा कि प्रगति की दिशा में हमारी यात्रा चुनौतियों से रहित नहीं रही है। हमने एक साथ विपरीत परिस्थितियों का सामना किया है और हमारी एकता हमेशा हमारी ताकत रही है। आज, हम नई बाधाओं का सामना कर रहे हैं जो हमारे सामूहिक दृढ़ संकल्प और लचीलेपन की मांग करती हैं।

आइए हम जाति, पंथ और धर्म की बाधाओं को पार करके एक राष्ट्र के रूप में एक साथ आएं। आइए हम उस विविधता को अपनाएं जो हमें विशिष्ट रूप से भारतीय बनाती है। एक-दूसरे के मतभेदों का सम्मान करके और एकजुट होकर हम एक समावेशी समाज का निर्माण कर सकते हैं जहां प्रत्येक नागरिक को फलने-फूलने का अवसर मिले।

स्वतंत्रता और लोकतंत्र की भावना हमारे राष्ट्र की सीमाओं तक ही सीमित नहीं होनी चाहिए। हमें वैश्विक समुदाय की ओर मित्रता और सहयोग का हाथ बढ़ाना चाहिए। शांति, सतत विकास और मानवीय मूल्यों के प्रति हमारी प्रतिबद्धता लगातार बदलती दुनिया में आशा की किरण के रूप में काम करेगी।

इस शुभ दिन पर, आइए हम उन मूल्यों को बनाए रखने की अपनी प्रतिज्ञा को नवीनीकृत करें जो हमें एक राष्ट्र के रूप में परिभाषित करते हैं – करुणा, सहिष्णुता और एक दूसरे के लिए सम्मान। आइए हम अपने साथी नागरिकों, विशेष रूप से जरूरतमंद लोगों की सेवा के लिए खुद को समर्पित करें, क्योंकि हम एक अधिक समतापूर्ण समाज की दिशा में काम करना जारी रखेंगे।

मैं प्रत्येक नागरिक से राष्ट्र निर्माण प्रक्रिया में सक्रिय रूप से भाग लेने का आह्वान करता हूं। साथ मिलकर, हम आगे आने वाली किसी भी चुनौती पर काबू पा सकते हैं और भारत को एक उज्जवल, अधिक समृद्ध भविष्य की ओर ले जा सकते हैं।

जैसे ही हम तिरंगे झंडे को ऊंचा फहराते हैं और गर्व के साथ अपना राष्ट्रगान गाते हैं, आइए हम अपनी स्वतंत्रता को संजोएं और आने वाली पीढ़ियों के लिए इसकी रक्षा करने का वादा करें। आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएँ!

जय हिन्द!

[प्रधानमंत्री के हस्ताक्षर]

Website | + posts

सबसे पहेले ओर सबसे तेज सटीक खभर। अधिक जानकारी के लिए हमारे साथ जुड़े रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *